Home / उत्तर प्रदेश / भाजपा ने लोकतंत्र के खिलाफ बड़ी साजिश की है। ईवीएम को पहले ही फिक्स कर दिया गया है

भाजपा ने लोकतंत्र के खिलाफ बड़ी साजिश की है। ईवीएम को पहले ही फिक्स कर दिया गया है

लखनऊ. निकाय चुनाव में ईवीएम में गड़बड़ी का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है। बहुजन समाज पार्टी ने इस मामले को हाईकोर्ट पहुंचा दिया है। लखनऊ से बीएसपी की मेयर प्रत्याशी बुलबुल गोडियाल ने हाईकोर्ट में मुकदमा दर्ज किया है और इस मुद्दे पर जल्द सुनवाई के लिए आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ी तो हम सुप्रीम कोर्ट भी जाएंगे। मतलब साफ है कि ईवीएम से छेड़छाड़  और बहुजन समाज पार्टी बड़ा मुद्दा बना चुकी है। आपको बता दें कि यूपी विधानसभा चुनाव के बाद से ही बहुजन समाज पार्टी ईवीएम से छेड़छाड़ किए जाने का मामला उठाती रही है। उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी को प्रचंड बहुमत मिलने के बाद बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने आरोप लगाए थे कि वोटिंग मशीनों को मैनेज किया गया है। मायावती ने आरोप लगाया था कि वोटिंग मशीनों में गड़बड़ी के दम पर बीजेपी की जीत हुई।

 

बसपा ने बनाया मुद्दा

उत्तर प्रदेश के निकाय चुनाव में पहले चरण का मतदान 22 नवंबर को हुआ। इसमें पांच मेयर सीटों कानपुर, अयोध्या, मेरठ, आगरा और गोरखपुर में मतदान हुआ। जिसमें कानपुर और आगरा में चुनाव के दौरान ईवीएम में गड़बड़ी के आरोप लगाए गए हैं। सूत्रों की अगर मानें तो मायावती और बहुजन समाज पार्टी ने ईवीएम से छेड़छाड़ के मामले को गंभीरता से लिया है। बसपा अब पूरे प्रदेश में ईवीएम मे खिलाफ अभियान चलाने जा रही है। उसका मानना है कि ईवीएम में छेड़छाड़ की जा रही है।

कानपुर में सामने आई थी गड़बड़ी

ऐसा ही एक मामला कानपुर के चकेरी थानाक्षेत्र में वार्ड 58 से सामने आया। जहां वोटिंग करने पहुंचे मतदाताओं ने ईवीएम में गड़बड़ी को लेकर खूब हंगामा काटा। मतदाताओं ने आरोप लगाया थी कि ईवीएम में किसी भी पार्टी का बटन दबाने पर बीजेपी में वोट जा रहा है। मतदाताओं ने कहा कि साइकिल और पंजा का बटन दबाने पर कमल के निशान पर बत्ती जलती है। विपक्षी पार्टी के लोगों को जब जानकारी हुयी तो उन्होंने बूथ के बाहर हंगामा काटना शुरू कर दिया। इस दौरान सूचना पर पहुंची पुलिस और अलाधिकारियों ने ईवीएम को देखा और गलतफहमी को दूर कर लोगों को किसी तरह शांत कराया।


भाजपा को जिताने के लिए खेल

मतदाताओं और विपक्षी पार्टी के नेताओं ने आरोप लगाया था कि भाजपा ने लोकतंत्र के खिलाफ बड़ी साजिश की है। ईवीएम को पहले ही फिक्स कर दिया गया है। बटन हम अपने अनुसार दबाते हैं, लेकिन वोट सीधे कमल को जाता है। वोटर अशरफ ने बताया कि वे परिवार के साथ वोट डालने के लिए बूथ पर आए थे। पत्नी ने वोट डालने के बाद ईवीएम की करतूत बयां की। हमने भी बूथ के अंदर जाकर अपना मतदान करने के लिए बटन दबाया, लेकिन बत्ती कमल के निशान वाले चिन्ह पर जली।

 

,

सपा और कांग्रेसी भी पहुंचे

ईवीएम की गड़बड़ी की सूचना पर कांग्रेस और सपा के नेता बूथ पर आ धमके पर हंगमा करने लगे। सपा नगर अध्यक्ष फजल महमूद ने कहा कि हम लोगों को पहले पता था कि भाजपा चुनाव जीतने के लिए ईवीएम के साथ छेड़छेड़ करवा सकती है और हमारा सच सही साबित हुआ। कांग्रेस जिलाध्यक्ष हरप्रकाश अग्निहोत्री ने कहा कि जिला प्रशासन भाजपा के इशारों पर काम कर रहा है। ईवीएम के साथ छेड़छेड़ की गई है। हमने यूपी के चुनाव आयुक्त से शिकायत दर्ज करा दी है।

Check Also

gujrat election टीवी चैनलों की भीड़ में ये है अकेला ऑनलाइन , देखें ये हैं नतीजे

Related

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *